फिल्म का चयन होना मील का पत्थर हुआ साबित

संतोष अमन की रिपोर्ट:

औरंगाबाद जिले के प्राचीन भगवान भास्कर के मंदिर पर बनी डाॅक्यूमेंट्री फिल्म देव – द सन टेम्पल को बोधीसत्वा इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल में चयन होने पर संस्कार विद्या के सीएमडी सुरेश गुप्ता ने फिल्म निर्देशक धर्मवीर भारती को बधाई देते हुए विद्यालय प्रबंधन की ओर से सम्मानित करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि युवा फिल्म निर्देशक श्री भारती द्वारा निर्मित फिल्म का चयन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल में होना मील का पत्थर साबित हुआ है।

विद्या निकेतन ग्रुप आॅफ स्कूल्स के सीईओ आनंद प्रकाश ने कहा कि फिल्म सिटी मुम्बई में जाकर फिल्म कैरियर की शुरूआत करना आसान माना जा सकता है लेकिन बिहार में फिल्म कैरियर बनाना बहुत मुश्किल है। श्री भारती ने बिहार की धरोहर पर फिल्म बनाकर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल में जगह बनाई है। यह औरंगाबाद जिले के लिए गर्व की बात है।

किड्ज वल्र्ड के डिप्टी सीईओ विद्यासागर ने कहा कि डाॅक्यूमेंट्री फिल्म जिउतिया – द सोल ऑफ कल्चरल सिटी दाउदनगर के बाद इस फिल्म का चयन ने बिहार फिल्म क्षेत्र में इतिहास रचा है। विद्या निकेतन के एमओ डॉ मनोज कुमार ने कहा कि 22 फरवरी को शाम चार बजे पटना के पुराने सचिवालय के अधिवेशन भवन में आयोजित बोधीसत्वा फिल्म फेस्टीवल में देव द सन टेम्पल का प्रदर्शन होना है। इस गौरवमयी क्षण में औरंगाबाद जिले से अधिक से अधिक लोगों को शामिल होना चाहिए।

Leave a Reply