कई कॉलेजों में अब तक इंटरमीडिएट का प्रवेश पत्र ना आने पर अभाविप ने जताया रोष: 

अभी से महज़ एक दिन के बाद इंटरमीडिएट की परीक्षा प्रारंभ होने वाली है ,छात्र-छात्राएं परीक्षा को लेकर अपनी व्यवस्था बना रहे हैं औरंगाबाद जिले के छात्रों का सेंटर यहां से 35 किलोमीटर दूर दाउदनगर अनुमंडल में गया है किंतु अब तक शहर के अनुग्रह नारायण मेमोरियल कॉलेज में छात्र छात्राओं का एडमिट कार्ड ना आना राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन की शिक्षा व्यवस्था की पोल खोलता प्रतीत होता है आज इसे लेकर मेमोरियल कॉलेज के छात्रों द्वारा प्रशासन व सरकार के खिलाफ हंगामा सड़क जाम किया गया जिला संयोजक सौरभ सिन्हा ने कहा कि विगत कई वर्षों से नितीश कुमार के देखरेख में लगातार बिहार  की शिक्षा व्यवस्था को खोखला बनाया जा रहा है, बिहार की शिक्षा पर सवाल उठ रहे हैं ।इस का जीता जागता उदाहरण है 2016 में टॉपर घोटाला व विगत पिछले महीने से बिहार में कई घोटाले उजागर हुए जिसमे बीएसएससी पेपर लीक मामला,बीपीएससी के 13000 छात्रों का एडमिट कार्ड ना आनाऔर अब महज 1 दिन के बाद इंटरमीडिएट की परीक्षा है और कई कॉलेजों में अभी तक छात्र -छात्राओं का एडमिट कार्ड तक नहीं आया ।शिक्षा व्यवस्था में इस तरह की लापरवाही से आखिर बिहार सरकार साबित क्या करना चाहती है या छात्रों को शिक्षा से भटकाने की यह एक साजिश है और इसका जिम्मेवार कौन है ?अगर इसी तरह से छात्र युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ होता रहा तो छात्र हित को देखते हुए विद्यार्थी परिषद अंततः  किसी भी हद तक जा सकता है यह बिहार के मुखिया नीतीश कुमार को खुली चेतावनी है और इसके बाद किसी भी तरह की घटना घटित होने पर खुद सरकार जवाबदेही होगी इस मौके पर नीतीश कुमार अमरेंद्र कुमार सौरभ सिंह आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply