रंगकर्मियों का सम्मान है कला का सम्मान

विश्व रंगकर्म दिवस, 27 मार्च को मानाने हेतु धर्मवीर फ़िल्म एंड टीवी प्रोडक्शन, नाट्य भारती ग्रुप और प्रबुद्ध भारती की सामूहिक बैठक का आयोजन वागेश्वरी कोचिंग सेंटर के प्रांगण में किया गया है। धर्मवीर फिल्म एंड टीवी प्रोडक्शन के निर्देशक धर्मवीर भारती ने बताया कि इस दिवस का एक महत्त्वपूर्ण आयोजन अंतर्राष्ट्रीय रंगमंच संदेश है, जो विश्व के किसी जाने माने रंगकर्मी द्वारा रंगमंच तथा शांति की संस्कृति विषय पर उसके विचारों को व्यक्त करता है। 1962 में पहला अंतर्राष्ट्रीय रंगमंच संदेश फ्रांस की जीन काक्टे ने दिया था। वर्ष 2002 में यह संदेश भारत के प्रसिद्ध रंगकर्मी गिरीश कर्नाड द्वारा दिया गया था।

श्री भारती ने बताया कि 27 मार्च विश्व रंगमंच दिवस को दाउदनगर में एक दिवसीय नाटक प्रतियोगिता एवं वरिष्ठ रंगकर्मी सम्मान समारोह का आयोजन कर मनाया जायेगा। दाउदनगर को रंगमंच का शहर कहने में कोई अतिश्योक्ति नहीं होनी चाहिए। नाटक प्रतियोगिता में 5 से 20 वर्ष के रंगकर्मी भाग लेंगे और सम्मान समारोह में उन सभी वरिष्ठ रंगकर्मियों को सम्मानित किया जायेगा जिनके कंधे पर दाउदनगर का रंगमंच फला फूला और राज्य एवं अंतराष्ट्रीय स्तर पर अपनी कला का लोहा मनवाया।

बैठक में सर्वसम्मति से नाटक प्रतियोगिता में एकल अभिनय और लघु नाटक को रखा गया है। एकल अभिनय में भी तीन श्रेणी में प्रतियोगिता होगी, जो चाइल्ड थिएटर आर्टिस्ट ऑफ़ दाउदनगर (आयु सीमा 5 से 10 वर्ष), टीनएजर थिएटर आर्टिस्ट ऑफ़ दाउदनगर की (आयु सीमा 11 से 15 वर्ष) और यंग थिएटर आर्टिस्ट ऑफ़ दाउदनगर (आयु सीमा 16 से 20 वर्ष) है। लघु नाटक प्रतियोगिता में भाग लेने वाले रंगकर्मियों की आयु सीमा 5 से 20 वर्ष ही तय किया गया है। धर्मवीर फिल्म एंड टीवी प्रोडक्शन द्वारा सम्मानित करने वाले रंगकर्मियों और कलाकारों की सूची बैठक में सर्वसम्मति पारीत की गयी। सम्मानीय कलाकारों की सूचि में दाउदनगर के ब्रजेश कुमार, द्वारिका प्रसाद, ओमप्रकाश, परमानन्द प्रसाद, डॉ दिनु प्रशाद, उमेश सिंह, गणेश गुप्ता, रवि मिश्रा, विश्वनाथ मिश्रा, महेंद्र गुप्ता, संजय सिंह, अनिल गुप्ता, ख़ुर्शीद खान, रमण पूरी, मुनमुन प्रसाद, श्यामलाल तांती, शम्भू चंद्रा, राजेंद्र यादव, बृजनंदन प्रसाद, गुप्तेश्वर प्रसाद जम्होर के देवबली सिंह, औरंगाबाद के रंगकर्मी आफ़ताब राणा और कपिल देव संगीत महाविद्यालय के प्रबंध निदेशक डॉ दिनेश पाण्डे हैं। सभी सम्मानीय कलाकरों को सुचना पत्र दिया जायेगा।

निस्ट के निर्देशक डॉ एस पी सुमन ने कहा की विश्व रंगमंच दिवस पर वरिष्ठ रंगकर्मियों का सम्मान दाउदनगर की कला का सम्मान है।
बैठक की अध्यक्षता वार्ड नं 5 के वार्ड पार्षद बसंत कुमार ने की। बैठक में समाजसेवी चिंटू मिश्रा, डी के रत्नाकर, मनीष यादव, संस्कार विद्या के सीइओ आनंद प्रकाश, नवज्योति शिक्षा निकेतन के प्राचार्य नीरज कुमार, डॉ एस पी सुमन, रीडर पुलिसअधीक्षक कार्यालय कपील रंजन, ज्ञानदीप समीति के संतोष अमन ,प्रबुद्ध भारती के संदीप सिंह, संजय तेजस्वी, संकेत सिंह, विकास कुमार, मधुलिका रानी, गोविन्द राज, सुशिल पुष्प, पप्पू कुमार, ब्रजकिशोर मंडल, रवि कुमार रवि की गरिमामय उपस्तिथि रहीं।

Leave a Reply