औरंगाबाद में गिरती शिक्षा व्यवस्था के खिलाफ अभाविप के 8000 छात्रों ने भरी हुंकार

आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के द्वारा जिले की गिरती शिक्षा व्यवस्था, शैक्षणिक संस्थानों में व्याप्त भ्रष्टाचार एवं कुव्यवस्था को लेकर 8000 छात्र छात्राओं साथ जिला मुख्यालय पर विशाल छात्र रैली समाहरणालय घेराव व विशाल छात्र सम्मेलन किया गया।अभाविप के क्षेत्रीय संगठन मंत्री श्री गोपाल शर्मा ने कहा की नालंदा ,उदवंत पूरी ,तक्षशिला जैसे विश्वविद्यालयों से जाने जाने वाले बिहार की शिक्षा व्यवस्था आज इस प्रकार से गर्त में जा पहुंची है कि आज बिहार के किसी भी स्कूल कॉलेज से शिक्षा प्राप्त छात्र -छात्राओं को बेरोजगारी का दंश झेलने पर मजबूर होना पड़ रहा है। शैक्षणिक संस्थान महज एक डिग्री बांटने का माध्यम बन कर रह गया है किंतु न तो राज्य की सरकार का इस पर कोई ध्यान है नहीं शिक्षा विभाग का ।राज्य के मुखिया अपनी शराबबंदी की नीति का ढोल पीटते पूरे बिहार का भ्रमण कर रहे हैं ,स्कूलों में पढ़ने वाले छोटे बच्चों को मानव श्रृंखला के नाम पर परेशान किया जा रहा है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इन कुकृत्यों का कड़ी भर्त्सना करती है एवं इसका विरोध करती है ।वही प्रांत संगठन मंत्री श्री निखिल रंजन ने कहा कि स्कूलो ,कॉलेजों में महत्वपूर्ण विषयों के शिक्षकों की घोर कमी, भवनों की जर्जर स्थिति ,कमरों की अपर्याप्त संख्या, छात्रावासों की कमी, पुस्तकालयों का घोर अभाव, बिजली ,पानी ,खेल सामग्री व पेयजल नगण्य स्थिति में हो चुकी है जिसके कारण स्कूलों में छात्रों की संख्या में भारी गिरावट का होना यह शिक्षा की भयावह स्थिति को दर्शाता है, आजादी के 70 सालों के बाद भी शिक्षा की स्थिति में सुधार की जगह गिरावट का होना चिंता का विषय है अभाविप इन विषयों पर जल्द से जल्द अमल करने व व्यवस्था दुरुस्त करने की मांग करती है। प्रदेश मंत्री दीपक कुमार ने कहा कि जिले की शिक्षा व्यवस्था को लेकर अभाविप ने जिले के सभी प्रखंडों के शिक्षा व्यवस्था को उजागर करने के लिए 164 मध्य विद्यालय, 7 उच्च एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालय एवं उत्क्रमित उच्च विद्यालयों का सर्वे किया जिसमें सैकड़ों समस्याएं सामने आई जिसे लेकर अभाविप ने जिला प्रशासन व शिक्षा विभाग से अपनी निम्न मांगों को रखा जिले के सभी हाई स्कूल और इंटर स्कूलों में शिक्षकों की कमी को दूर किया जाए ,छात्र के अनुपात में शिक्षकों की बहाली व भवन बनाई जाए ,विद्यालयों में पानी ,शौचालय ,चाहरदीवारी, खेल का मैदान ,कंप्यूटर शिक्षा, प्रयोगशाला ,तकनीक की व्यवस्थाएं ,समय पर पुस्तक उपलब्ध ,बेंच डेस्क ,साईकिल, पोशाक ,मुख्यमंत्री परिभ्रमण योजना ,छात्रवृतियों की राशियों का वितरण आदि की सुचारु व्यवस्था करवाई जाए।

 प्राथमिक व मध्य विद्यालयों में सिलेट से ज्यादा प्लेट पर ध्यान केंद्रित है जिसमें जल्द सुधार किया जाए ,जिला के सभी प्रखंडों में पुस्तकालय की स्थापना कराई जाए और जिला मुख्यालय में चल रहे हैं जीर्ण-शीर्ण सेंट्रल लाइब्रेरी को व्यवस्थित कर चालू कराइ जाये, जिले में बंद पड़े कल्याण छात्रावासों को जल्द चालू कराई जाए ,औरंगाबाद औद्योगिक क्षेत्र स्थित महिला कल्याण छात्रावास को पुनः अन्य दूसरी जगह पर जल्द से जल्द निर्माण कराई जाए, प्राइवेट स्कूलों की मनमानी पर रोक हर वर्ष किताब बदलना री एडमिशन के नाम पर शुल्क लेना बंद कराया जाए, बिहार में लागू कोचिंग अधिनियम का औरंगाबाद में व्यवस्थित पालन किया जाए एवं इसकी जांच कराई जाए ,औरंगाबाद में चल रहे सेंट्रल स्कूल को जमीन मुहैया कराई जाए ,भारत सरकार द्वारा जिले में कृषि महाविद्यालय की अनुमति प्रदान हो गई है किंतु जमीन उपलब्ध ना होने के कारण महाविद्यालय का निर्माण कार्य स्थगित है जिसके लिए जमीन उपलब्ध कराई जाए, इस तरह से विद्यार्थी परिषद ने कई और मांगों को प्रशासन के सामने रखा

 इस अवसर पर विभाग संयोजक राहुल कुमार,जिला संयोजक सौरभ सिन्हा, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शशि कुमार ,विकास काली ,शिवाजी ,आशीका कुमारी, सौरव सिंह, रविशंकर कुमार, शुभम पांडे ,पूर्व कार्यकर्त्ता सुरेंद्र सिंह,उज्जवल सिंह,आशुतोष मोनू,विक्की सिंह,अभिषेक कुमार, आकाश कुमार,नगर मंत्री अमित गुप्ता ,आर्य अमर,दीपक मिश्र,सोनू,चंदन कसेरा, सौरभ राजपूत,पुष्कर अग्रवाल ,मृत्युंजय पांडे ,विकास कुमार सोनू पाण्डे,सुमित भारती,सागर तांतिया, सल्लू यादव, नितेश ,कॉलेज अध्यक्ष सतीश ,संजीत ,प्रभात ,महिला कॉलेज अध्यक्ष प्रेरणा सुमन चंचल ,मनीषा, अनीषा, संतोष अमन ,भीम ,सुशील समेत जिले के सभी प्रखंडों दाउद नगर रूद्रा मदनपुर गो अंबा देव रफीगंज औरंगाबाद एवं कई क्षेत्र फिशर देवगढ़ के हजारों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Leave a Reply