अभाविप का विशाल छात्र सम्मेलन 28 जनवरी को

संतोष अमन की रिपोर्ट:

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के द्वारा आज एक प्रेस वार्ता किया गया जिसमें 28 जनवरी को होने वाले विशाल छात्र सम्मेलन व समाहरणालय घेराव की जानकारी दी गई। जिला संयोजक सौरभ सिन्हा ने प्रेसवार्ता में बताया कि औरंगाबाद जिले की शिक्षा व्यवस्था तेजी से गिरती जा रही है। शैक्षणिक संस्थानों में व्याप्त भ्रष्टाचार बढ़ती ही जा रही है। अभाविप ने पूर्व में जिले के 164 मध्य विद्यालय, 7 उच्च एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, उत्क्रमित उच्च विद्यालय का सर्वे किया था। हाई स्कूल, इंटर स्कूल, कॉलेजों एवं छात्रावासों में जाकर समस्या संग्रह अभियान चला कर एक रिपोर्ट तैयार किया एवं दिनांक 16 -12 -2016 को इन समस्याओं को सर्वे रिपोर्ट के साथ शांतिपूर्वक जिला शिक्षा पदाधिकारी को मांग पत्र सौंपा तथा जल्द से जल्द इन विषयों पर कार्रवाई के लिए शिक्षा पदाधिकारी यदुवंश राम से वार्ता भी किया था एवं उनके द्वारा आश्वासन भी दिया गया था किंतु अब तक किसी तरह का कोई पहल प्रशासन व अधिकारियों द्वारा नहीं की गई। विद्यार्थी परिषद ये पूछती है कि आगामी दिनों में मैट्रिक व इंटर की परीक्षा प्रारंभ होने वाली है जिसे सरकार व प्रशासन के द्वारा कदाचारमुक्त बनाने की पूरी कोशिश होगी विद्यार्थी परिषद इसका स्वागत करता है किंतु जिन अधिकारियों की नीली- पीली बत्ती परीक्षाओं के दौरान चमकेगी क्या वह अधिकारी यह जानने की कोशिश किए हैं कि छात्र -छात्राएं किस स्थिति में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं व्याप्त कुव्यवस्था के प्रति क्या उनका कोई जिम्मेवारी नहीं था , फिर किस आधार पर उन बच्चों का परीक्षाफल मूल्यांकन किया जाएगा ।प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य आशिका कुमारी ने कहा कि शिक्षा पदाधिकारी अपने मूल कर्तव्य को छोड़कर बाकी जिला अधिकारी व मुख्यमंत्री को खुश रखने हेतु सभी प्रकार के प्रयास कर रहे हैं शिक्षा के प्रति ही उनका रवैया उदासीन है जिसे देखते हुए अब आगे पुनः दिनांक 23-01- 2017 को शिक्षा विभाग का घेराव किया गया और छात्रों के हक की लड़ाई हेतु दिनांक 28-01-2017 को जिले के सभी प्रखंडों से लगभग 8000 छात्र-छात्राएं एक साथ जिला मुख्यालय पर विशाल-छात्र सम्मेलन करेंगे जो सुबह 11:00 बजे गांधी मैदान से चलकर समाहरणालय गेट होते हुए बद्रीनारायण मार्केट में छात्र सम्मेलन के रूप में आयोजित होगी ,यह प्रशासन के खिलाफ छात्र शक्ति की एक झलक होगी यदि शिक्षा की स्थिति में सुधार नहीं किया गया तो आगामी समय में विद्यार्थी परिषद उग्र प्रदर्शन, चक्का जाम जैसे आंदोलनों पर बाध्य होगा इस की जिम्मेवारी जिला प्रशासन व राज्य सरकार पर होगी ।नगर मंत्री अमित गुप्ता ने बताया कि सम्मेलन के पूर्व शहर में बाइक रैली ,मसाल जुलूस आदि के माध्यम से जागरूकता वह सम्मेलन में भाग लेने हेतु आमंत्रित भी किया जाएगा। इस अवसर पर विभाग संयोजक राहुल कुमार , प्रदेश कार्यसमिति सदस्य शशि कुमार,विकास काली ,शिव शंकर कुमार ,कॉलेज अध्यक्ष सतीश कुमार , सहमंत्री शिवकुमार ,नितेश कुमार ,कॉलेज मंत्री आदित्य सिन्हा,कार्यालय प्रमुख अनूप मिश्रा, छात्रा प्रमुख चंचल कुमारी, निशा कुमारी ,महिला कॉलेज अध्यक्ष प्रेरणा कुमारी, अनिता कुमारी ,शबनम कुमारी, सुमन कुमारी,पूजा कुमारी ,यादव कॉलेज अध्यक्ष प्रभात चंद्र, मारुत पांडे ,निधि मिश्रा आदि छात्र उपस्थित थे।

Leave a Reply