मानव शृंखला के नाम पर सरकारी कर्मचारियों और पैसे के दुरुपयोग: जाप

संतोष अमन की रिपोर्ट:
जन अधिकार छात्र परिषद् औरंगाबाद ने संयुक्त प्रेस ब्यान जारी कर कहा है कि बिहार के मुख्यमंत्री हिटलरशाही जैसा सरकार चला रहें हैं। मुख्यमंत्री के इशारे पर औरंगाबाद जिलाअधिकारी नशा मुक्त बिहार बनाने को लेकर जिला के समाहरनालय गेट से पूरे शहर में बाईक पर सवार होकर DM और SDM, जन वितरण डिलर एवं स्कूली छात्र-छात्राओं की भिड़ जुटाकर सिर्फ़ मिडिया के सामने नशा मुक्त बिहार बनाने का काम किया जा रहा है। ऐसा करने से नशमुक्त बिहार सिर्फ़ मीडिया के काग़ज़ों में सिर्फ़ सीमित रह जाएगा।

मुख्यमंत्री के आहवान् के बाद भी पूरे जिला में शराब होम डिलीवरी हो रहा और जिलाअधिकारी नशा मुक्त का तिलखी लेकर घुम रहें हैं। छात्र परिषद् के जिलाध्यक्ष बिजेन्द्र कुमार, प्रदेश महासचिव विजय कुमार ऊर्फ गोलू यादव ने कहा है कि मानव श्रृंखला के नाम पर जिलाअधिकारी तथा जिला के वरीय तमाम पदाधिकारी मानव श्रृंखला के तैयारी में लगें हैं गरीब मजदूर, शोषित, पीड़ित, मध्यम वर्ग तथा छात्र-छात्राओं को मानव श्रृंखला के नाम पर सपनों को कुचला जा रहा है तथा सरकारी पैसों से करोडों रूपयों का दुरूपयोग किया जा रहा है।मानव श्रृंखला में अधिकतर भाग लेने वाले लोग सरकार के कर्मचारी ही नजर आएगें जिनमे शिक्षक, आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका, ममता, टोलाशेवक, ईन्दरा आवाश सहायक, ग्रामसेवक, डिलर, मुखिया समिति, वार्ड, सरपंच तमाम लोगों पर पदाधिकारीयों के द्वारा दबाव बनाया जा रहा है। मानव श्रृंखला में भाग लेने के लिए जन अधिकार से नगर अध्यक्ष भास्कर पाण्डेय जोरदार विरोध करते हैं मानव श्रृंखला में तमाम शिक्षकों को भाग नहीं लेने का अपिल करते हैं क्योंकि सबसे ज्यादा बेईजिती किया है तो शिक्षक को जो शिक्षक कभी भुल नहीं पाएगें अपनी वेतन के लिए शिक्षक भटक रहें हैं एवं झुठा वादा करके लोगों को दिगभ्रमित करते रहते हैं इस अवसर पर जिलामहासचिव प्रेम कुमार, युवा शक्ति शशी भुषण यादव एवं अन्य लोग थें

Leave a Reply