दाउदनगर आपदा राहत कोष टीम का हुआ गठन, आगामी एक अप्रैल से एक प्रयास अशिक्षा के विरूद्ध

दाउदनगर स्थित दुर्गा क्लब में दिन गुरुवार को स्वामी विवेकानंद राष्ट्रीय युवा मंच के द्वारा आयोजित लिखित सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता में शामिल एवं सफल प्रतिभागियों के सम्मान में राष्ट्रीय युवा दिवस सह कालजयी सन्यासी स्वामी विवेकानंद की जयंती पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन पूर्व सैनिकों के साथ, मंच के राष्ट्रीय संयोजक अनुज कुमार पांडेय, वार्ड पार्षद अनुसुइया देवी व देवेन्द्र सिंह ने संयुक्त रूप से किया। तत्पश्चात उनकी तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया गया। मंच से जुड़ी छात्राओं ने सभी अतिथियों को टिका लगाकर एवं कलेवा बांधकर सम्मानित किया। साथ ही मंच के सदस्यों ने बारी बारी से स्वामी जी की तस्वीर देकर और शॉल से अतिथियों का सम्मान किया। मंच से जुडी छात्राओं ने अतिथियों के सम्मान में स्वागत गान प्रस्तुत किया। छात्रा गीतांजलि ने देशभक्ति गीत पर नृत्य एवं दहेज़ प्रथा पर गीत प्रस्तुत किया। इस दरम्यान बारून प्रखंड से आए और दाऊदनगर के सफल 118 प्रतिभागियों (सीनियर ग्रुप से 58 तथा जूनियर ग्रुप से 60) को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों, छात्र-छात्राओं को स्वामी विवेकानंद की 400 तस्वीर प्रदान की गयी।

मंच ने अपने सामाजिक क्षेत्र को आगे बढ़ाते हुए अपने दो नए कार्यक्रम “दुर्गा- सुपर 30 – (एक प्रयास अशिक्षा के विरुद्ध)” एवं “डार्क -(दाउदनगर आपदा राहत कोष) का विमोचन किया। विमोचन करते हुए संयोजक अनुज कुमार पांडेय ने कहा कि मंच आगामी 1 अप्रैल से दुर्गा- सुपर 30 की शुरुआत करेगी। इसमें सरकारी विद्यालय कक्षा 6 की लड़कियां शामिल होंगी तथा प्रतियोगिता के माध्यम से 30 छात्राओं का चयन किया जाएगा। इन सभी छात्राओं को मुफ्त शिक्षा दी जाएगी। “डार्क” के माध्यम से लोगों की आपातकालीन सहायता की जाएगी। इसके लिए मंच ने एक टीम का गठन किया है जो प्रत्येक रविवार को दाउदनगर में छह रूपये में चाय बेचने का काम करेंगे। इस टीम में अनुज कुमार पांडेय, संतोष अमन, नितीश मिश्रा होंगे। श्री पांडेय ने कहा कि डार्क की प्रेरणा उन्हें भारतरत्न पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी की कविता की एक पंक्ति “ज्वालाओं में जलते हैं, लोग हम अंधियारों में जलते हैं, एक हाँथ में सृजन एक में प्रलय लिए चलते हैं” से मिली।

विशिष्ट अतिथि के रूप में उत्कर्ष पत्रिका के संपादक उपेंद्र कश्यप ने मंच की सराहना करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद के विचारों और तस्वीर को घर-घर पहुँचाने का तरीका अपने आप में एक क्रांति के समान है। विशिष्ट अतिथि के रूप में अश्विनी तिवारी, सुरेंद्र यादव, रवि पांडेय, डॉक्टर एस सिंह, सूरज पांडेय, अश्विनी पाठक, धर्मवीर भारती, चाणक्य युवा संघ के सचिव  श्याम पाठक, शिक्षक संजय किशोर, जय सिंह, गणेश कुमार , अरविन्द यादव, अमित कुमार, वशिष्ट मिश्रा, रम्भा देवी, प्रतिभा देवी, विद्यावती देवी, निर्मला देवी, शिवकुमार पाठक, तारिणी इंद्रगुरु, सर्वानंद पांडे, प्रशांत इंद्रगुरु, आरजू, शाजिद थें।

इस मौके पर कार्यक्रम के संचालनकर्ता अजय पांडेय, चिंटू मिश्रा, संतोष अमन, मुकेश मिश्रा, प्रभात छोटू, विश्वजीत आनंद, अभय पांडेय, अम्बुज पांडेय, नितीश मिश्रा, शुभम मिश्र, सोनू यादव, रामानुज यादव, पप्पू यादव, मनीष यादव, प्रभाकर मिश्रा, राजन मिश्रा, अभिनन्दन मिश्रा, बसंत कुमार, अंशु मिश्रा, निक्की मिश्रा, संगीता पांडेय, निशा नंदिनी, निकेत नंदन, राहुल कुमार, काशीनाथ पांडेय, डॉक्टर विकाश मिश्रा सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply