किसानों द्वारा विरोध प्रदर्शन- प्रशासन ने मामले को शांत कराया

आज दिनांक 7 जनवरी 2017 को सोन नदी पर निर्मानधिन पुल का कार्य किसानों के विरोध के कारण प्रभावित होता हुआ देखा गया। दाऊदनगर की तरफ़ पुल को जोड़ने वाली सड़क के निर्माण हेतु कन्स्ट्रक्शन कम्पनी एचसीसी के कर्मचारियों द्वारा फ़सल लगी हुए खेत को ख़ाली कराए जाने के विरोध में किसान एकजुट होकर प्रदर्शन करने लगे। किसानों ने इस बात पर भी अपना विरोध जताया कि पुल का काम पूरा होने के कगार पर है बावजूद इसके भूमि अधिग्रहण के तहत सभी किसानों को अबतक मुवाव्जा नहीं मिला है जो उनके लिए चिंता का विषय है। साथ ही फ़सल लगे हुए खेत को ख़ाली करने से इंकार करते दिखे।

मामले को बढ़ते देख प्रशासन ने मोर्चा सम्भाला और प्रशासन के आदेश के पश्चात फ़सल लगे हुए खेत को खली कराकर काम आगे बढ़ाया गया। कन्स्ट्रक्शन कम्पनी के प्रशासनिक विभाग को फ़सल की क्षतिपूर्ति हेतु किसानों को चिन्हित कर भरपाई करने का आदेश भी दाऊदनगर प्रशासन द्वारा दिया गया। अब किसानों को भूमि के साथ साथ फ़सल के मुवावजे का इंटेजर रहेगा।

ज्ञात हो कि एक अलग मामले में प्लॉट संख्या 1585 एवं 1589 के रय्यतदारों में भी असंतोष का भाव देखा गया क्यूँकि अबतक यह मामला प्रशासन के हाथ में पड़ा हुआ ही कि रय्यतदारों को मुवाव्जा मिलेगा कि नहीं जबकि उस प्लॉट की तरफ़ पुल निर्माण का काम तक़रीबन ख़त्म होने के कगार पर है।

Leave a Reply