मनमाने ढंग से शुल्क वसूली के ख़िलाफ़ विद्यार्थी परिसद का विरोध

संतोष अमन की रिपोर्ट:

आज दिनांक 6 जनवरी 2017 को ओबरा कन्या उच्च विद्यालय में मैट्रिक परीक्षा के फॉर्म में अवैध शुल्क लेने का मामला प्रकाश में आया है। बिहार सरकार के अनुसार 580 रुपया मैट्रिक परीक्षा फॉर्म का शुल्क है जबकि कन्या विद्यालय में अवैध रूप से 980 रू लेने की ख़बर आ रही है। अभाविप के जिला कार्यकारिणी सदस्य शुभम पाण्डेय ने बताया कि जब अभाविप ओबरा इकाई के पुष्कर अग्रवाल सहित अन्य कार्यकर्त्ता छात्राओं के साथ इस विषय की जानकारी लेने प्रधानाध्यापक मोहम्मद आरिफ अंसारी के पास पहुंचे तो उन्होंने ने अभद्रता के साथ व्यवहार वार्ता करते हुए कहा कि ये अतरिक्त मनोरंजन शुल्क लिया जा रहा है जो पूर्ण रूप से गलत है। दबंगई का परिचय देते हुए उन्होंने ने कहा कि जो करना है वो कर लो कोई प्रभाव नहीं पड़ने वाला। आपको बताते चले की प्राचार्य महोदय के द्वारा 580 रुपया का ही रसीद दिया जा रहा है बाकी के पैसे का का कोई प्रमाण नहीं दिया जा रहा है। इतना ही नहीं वहां के क्लार्क मोहर लगाने का छात्राओं से 20 रुपया अलग से ले रहे हैं।  विद्यालय के छात्राओं नेहा कुमारी, पूजा कुमारी, प्रियंका कुमारी ने इस घटना की जानकारी विद्यार्थी प्रसाद के कार्यकर्ता को दी जिसको लेकर विद्यार्थी प्रसाद ने इसका विरोध किया। छात्रों से इस अवैध वसूली को अभाविप कतई बर्दास्त नहीं करेगी।

Leave a Reply