अमझर शरीफ में उर्स के मौके पर हुई जियारत

 

हसपुरा थाना अंतर्गत अमझर शरीफ में दादा सैयदना के मजार पर चादरपोशी की गयी। यह चादरपोशी 498वां उर्स के मोके पर हुई। इसकी जानकारी खानकाहे मुहम्मद कादरिया के तेरहवें सज्जादा सैयद हसनैन कादरी ने दी। उन्होंने बताया कि गुरुवार को शाम में दादा सैयदना के मजार पर चादरपोशी होने के बाद पूरी रात जलसा का आयोजन किया गया था। यहाँ पर झारखण्ड, उड़ीसा, छत्तीसगढ़ और बंगाल से लोग आए और जलसा में बढ-चढ़ कर हिस्सा लियें। खानकाह में रखे हजारों वर्ष पुरानी सैयदना पाक के अनमोल चीज़ों की जियारत करायी गयी।


जानकारी के मुताबिक आज सुबह से ही लोगों का हुजूम लग़ा रहा और मेला में देख-रेख के लिए पुलिस बल की भी तैनाती की गई है। यहाँ पर आए हुए लोगों का मानना है कि सैयदना पाक से जो कुछ भी सच्ची दिल से दुआ मांगी जाती है, वो सारी दुआएं कबुल कर ली जाती है। मेले में बहुत ही ज़्यादा लोगों की भीड़ है। यहाँ पर खाने-पीने के इंतेज़ाम के साथ-साथ मनोरंजन के लिए सर्कश, झुला, मौत का कुआ एवं बच्चों के लिए बहुत सारे खिलौने के दुकान लगे हुए हैं।

Leave a Reply