महादलित बस्तियों में दूध का वितरण


दाउदनगर से संतोष अमन की रिपोर्ट:
शनिवार की सुबह से 12 घंटे का निर्जला खरना व्रत आरंभ हो गया है। शाम में छठी मईया की पूजा करने के बाद प्रसाद ग्रहण किया जाता है। खरना के दिन खीर का खास महत्व है। और इसे तैयार करने का तरीका भी अलग है।

मिट्टी के चुल्हे पर आम की लकड़़ी जलाकर खीर तैयार की जाती है। मिट्टी के नये चुल्हे पर दूध , गुड़ व अरवा चावल से खीर और गेँहू के आंटे की रोटी का प्रसाद बनाया जाता है। प्रसाद बन जाने के बाद शाम को सूर्य की अराधना कर उन्हें भोग लगाया जाता है, और फिर व्रतधारी प्रसाद ग्रहण करते हैं।

इस पावन दिन के शुभ अवसर पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के छात्र नेता शेखर सुमन, सोनू पांडेय, संतोष अमन के नेतृत्व में महादलित बस्तियों में रह रहे निर्धन भगवान सूर्य के भक्तों के बीच में आज खरना के प्रसाद के लिए दूध और चावल देकर सहयोग किया गया। इस शुभ कार्य में नगर मंत्री चंदन कुमार सहित प्रदुमन कुमार, दीपक टाइगर, रौशन गुप्ता, सचिन भारती, हिमांशु कुमार, गोल्डन शाह इत्यादि छात्र नेता उपस्थित थे।

Leave a Reply