मच्छरों से होने वाली बीमारी घातक- अरविन्द कुमार


यदि आपके ग्राम शहर घर परिवार में किसी को बुखार, उलटी, कँपकँपी के साथ शारीरिक व् मानसिक परिवर्त्तन हो तो उसे नज़र अंदाज नहीं करें,वह AES/JE से सम्बंधित गंभीर बिमारी मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया व् मस्तिष्क ज्वर से पीड़ित हो सकता है ।   उपरोक्त बातें अंतरराष्ट्रीय गैर सरकारी संगठन पाथ के जोनल कॉर्डिंनटर अरविन्द कुमार सिंह ने ओबरा प्रखंड के बिचलगंज ग्राम के आंगनवाड़ी केंद्र संख्या 18 पर आयोजित सामुदायिक बैठक में मच्छर से होनेवाली जानलेवा और घातक वीमारी मलेरिया , डेंगू,चिकनगुनिया और दिमागी बुखार से जागृत करते हुए कही ।श्री सिंह ने बताया की हमारा अंतरराष्ट्रीय गैर सरकारी संगठन PATH स्वास्थ्य के क्षेत्र में 70 देशों में काम करता है। यह मच्छर से होनेवाली AES व् JE से बचाव के क्षेत्र में व् टीकाकरण के क्षेत्र में काम करती है ।।       प्रखंड मॉनिटर अरविन्द कुमार सिन्हा ने बताया की AES बीमारियों का एक समूह है । इस AES में 120 तरह की बीमारी होती है ।  60 बीमारी के नाम की पहचान हो गयी है जबकि 60 की पहचान बाकी है । AES बीमारियां मादा मकच्छर के काटने से होती है

श्री सिन्हा ने बताया की मादा ऐनोफिल से मलेरिया,एडीज एडीपीटी   से डेंगू व् चिकनगुनिया जबकि क्यूलेक्स मकच्छर के काटने से मस्तिस्क ज्वर बीमारी होती है । श्री सिन्हा ने बताया की उपरोक्त बीमारी से बचने के लिए लोगों को स्वास्थ्य क्र प्रति जागरूक होंना चाहिये ।खुद को,अपने घर को,अपने घर के आसपास एवम् नाली नाले को समय समय पर साफ सफाई करनी चाहिये। इस अवसर पर औरंगाबाद के प्रखंड मॉनिटर शशिकान्त सिंह,ANM सरस्वटी देबी,आंगनवाड़ी सेविका संजू देवी सहित कई गणमान्य उपस्थित थे । इसके पूर्व शंकरपुर के आंगनवाड़ी केंद्र संख्या 14 पर अयोजित बैठक में सेविका रेखा देवी उपस्थित थीं ।

Leave a Reply