दशहरा और मुहर्रम की तैयारी में लगे शहर के लोग

जिव्तिया पर्व के समापन के तुरंत बाद अब दाउदनगर वासियों में दशहरा और मुहर्रम को लेकर काफी उत्सुकता है। कल दशहरा की पहली तारीख है जिसे अलग अलग जगहों में अलग अलग नाम से बुलाते हैं। बंगाल में महालया तो हमारे शहर दाउदनगर में जलभरी के रूप में मनाया जयेगा। एक दिन के बाद मुहर्रम की भी चाँद दिखेगी उसी के साथ मुस्लिम भाइयों का नया साल शुरू हो जायेगा।

इस बार मुहर्रम और दशहरा साथ साथ होने की वजह से लोगों में काफी उत्साह है मगर साथ में वे असामाजिक तत्वों के डर से भयभीत भी हैं। जिस प्रकार देश के कुछ क्षेत्रों में ऐसे मौके पर धर्म और स्वाभिमान के आड़ में दंगे हुए हैं ओ सच में चिंता का विषय है। ऐसे ही असामाजिक तत्वों को सबक सिखाने के लिए प्रशाषन के लोग सदैव तैयार रहते हैं। पिछले कुछ वर्षों से खास करके दाउदनगर में प्रशाषन का लोगों के साथ मैत्री रवैया लोगों को खूब भा रहा है।

आपसी भाईचारा बनी रहे तथा असामाजिक तत्वों से बचे रहने के लिये कल 28 सितंबर को दाउदनगर थाना परिसर में शांति समिति की बैठक हुई जिसमें दुर्गा पूजा समिति, ताजिया समिति तथा झंडा समिति के सदस्यों ने हिस्सा लिया। हम दाउदनगर वासी शालीनता और धैर्य के साथ एक दूसरे धर्म के लोगों का सम्मान करते हुए ख़ुशी ख़ुशी मिलजुल कर दशहरा और मुहर्रम मनाएं।

Leave a Reply