असत्य पे सत्य की जीत- कुणाल प्रताप

दाउदनगर मुखिया संघ के अध्यक्ष एवम अंकोढा के मुखिया कुणाल प्रताप चाकू कांड में आज निर्दोष साबित होकर जेल से बरी हुए। दाउदनगर के युवाओं तथा पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। 16 सितंबर को एक हादसे में उन्ही के गांव के निवासी पिंटू यादव ने उनपर चाकू से हमला करने का आरोप लगाया था। यह घटना नीमा के पेट्रोल पंप के पास घटी थी जिसमे माननीय विधायक वीरेंद्र सिंह ने विधि व्यस्था का सम्मान करते हुए अपने पुत्र को दाउदनगर थाना में खुद को आत्म समर्पण करने की सलाह दी थी। तब से लेकर कल तक ओ दाउदनगर जेल में रहे मगर जाँच में उन्हें आज निर्दोष करके जेल से बरी कर दिया।

जेल से बाहर आने पर कुणाल प्रताप ने तमाम दाउदनगर वासियों को धन्यवाद् देते हुए कहा कि आज असत्य पर सत्य की जीत हुई है।

Leave a Reply