Dr. Sanjay Kumar Singh-शिक्षकों के शिक्षक: डॉ संजय कुमार सिंह

52 वर्षीय इस शिक्षक ने अपनी प्रारंभिक पढाई “प्राथमिक विद्यालय बुधई खुर्द(गोह)” एवं “राष्ट्रीय म0 वि0 दाउदनगर” से करने के पश्चात्  मैट्रिक की परीक्षा राष्ट्रीय उच्च विद्यालय दाउदनगर से उतीर्ण की। अपने शिक्षा का सिलसिला जारी रखते हुए उन्होंने इंटर की परीक्षा “दाउदनगर कालेज दाउदनगर” तथा स्नातक की परीक्षा “आर0 एल0 एस0 यादव कालेज, पटना” से उतीर्ण की।
बी0 ए0 एम0 एस0 – ए0 एम0 कालेज, गया।

पी एच0 डी0 -ए0 एम0 कालेज, पटना ।

समाजिक परिवेश – 1980 में “कला मंच” के नाम से सांस्कृतिक मंच का गठन कर नाटक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमो मे हिस्सा लिया।

1982 मे ज्ञान-सरोवर विद्यालय के नाम से स्कूल खोल कर मुहल्ला मे शिक्षा को बढ़ावा दिया।

1985 में आर्यभट्ट के नाम से कोचिंग संस्थान खोल कर दाउदनगर मे 10वीं तक अच्छी शिक्षा उपलब्ध कराने की कोशिश की ।

1989 में संघर्षशील युवा मोर्चा का गठन कर दाउदनगर के प्राथमिक समस्याओं एवं दाउदनगर को अनुमण्डल  बनाए जाने की बात के लिए लड़ाई लड़ी  जाती  रही।

1999 मे  ही “जागरण मंच” का गठन किया जिसके माध्यम से दाउदनगर के सोन नद में पुल, बारून-बिहटा रेल लाइन, अनुमण्डलिये अस्पताल, नहर पर पुल-पुलिया का निर्माण, सिपहां, तेजपुरा एवं डिहरा लाॅक पर पनबिजली परियोजना की मांग एवं  बिजली ब्यवस्था में सुधार तथा एडिशनल ट्रांसफॉर्मरकी मांग , नगरपंचायत से नगर परिषद् बनाने की मांग  तथा  C.W.J.C हाइ कोर्ट पटना में याचिका दायर की गई समय-समय पर अन्य समस्याओं पर संघर्ष।

सितम्बर 2011 से साक्षर भारत मिशन के प्रखण्ड कार्यक्रम समन्वयक सह  सचिव के पद पर कार्य कर  साक्षरता अभियान को बढ़ावा देने में प्रयत्नशील हैं। साक्षरता अभियान के लिए www.daudnagar.in उन्हें सम्मानित करती है।

Leave a Reply