Daudnagar: अल्लाह-हो-अक़बर से गूंज उठा सारा शहर

दाउदनगर तथा आसपास के इलाक़ों में आज ईद-उल-अजहा के मौके पर मुस्लिम भाइयों ने सुबह सुबह शांतिपूर्वक नमाज़ अता की। शहर के तमाम मस्जिदों तथा ईदगाह में हज़ारों की संख्या में आपसी भाईचारगी का परिचय देते हुए नमाजियों ने बक़रीद की नमाज़ अता कर एक दूसरे को गले से लगाया तथा ईद मुबारक कहते हुए एक दूसरे को बधाई दी। आज के इस खास नमाज़ में 6 बार ज्यादा तक़बीरों (अल्लाह-हो-अक़बर) के साथ पूरा शहर ईद की खुशियों में झूम उठा। नमाज़ के आखिर में नमाज़ियों ने अल्लाह ताला के सामने हाँथ फैला कर ढेर सारी दुवाएँ मांगी। आपसी मुहब्बत को बढ़ाने, परेशानहाल की परेशानियों को दूर करने, लोगों के रोजगार में इज़ाफ़े के लिए, हिंदुस्तान की तरक़्क़ी के लिए, अपने शहर दाउदनगर तथा दाउदनगर वासियों की खुशहाली के लिए भी नमाज़ियों ने दुआ मांगी।


कुछ खास जानकारी ईद-उल-अजहा के बारे में:

1. इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक यह साल का आखरी महीना होता है। अगला महीना मुहर्रम इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक साल का पहला महीना होता है।

2. ईद-उल-अजहा को और भी कई नामों से जाना जाता है, जैसे- बक़रीद, ईद-उज-जोहा, ईद-उल-क़ुर्बां।

3. ईद-उल-अजहा इस महीने की 10 तारीख को मनाई जाती है

4. यह ईद क़ुरबानी (त्याग/बलिदान) का ईद है। इसमें मुस्लिम भाई अल्लाह की राह में अपने अज़ीज़ जानवर की क़ुरबानी देते हैं।

5. इस महीने में प्रत्येक वर्ष दुनिया से करोड़ों की संख्या में लोग हज़ के लिए जाते हैं

Leave a Reply