दाउदनगर: बाढ़ का खतरा फिर से- सावधान रहने की ज़रूरत


हमारे सहयोगी संतोष अमन ने ताज़ा जानकारी दी है कि सोन नदी में जल का स्तर फिर से बढ़ सकता है। हम सब को सावधानी बरतने की ज़रूरत है। जानकारी के मुताबिक़ आठ लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है जो कि दाउदनगर के सोन तटीय क्षेत्र को पानी-पानी करने के लिए पर्याप्त से कहीं ज्यादा है। 

प्रशाशन के द्वारा अलर्ट जारी कर दिया गया है। सुबह होते होते बाढ़ का पानी शहर की तरफ बढ़ता जायेगा। आप अपने जानने वालों, रिश्तेदारों और अपने मोहल्ले के लोगों को सचेत कर दें। सोन तटीय इलाके में रात न गुजारें।

एक और जानकारी हम आपके साथ शेयर करना चाहते हैं। हम सभी क्यूसेक की बात न्यूज़ में पढ़ रहे हैं। मुझे लगा कि शायद आप यह जानने के लिए उत्सुक होंगे कि आखिर ये क्यूसेक क्या है?

क्यूसेक दरअसल में जल की परवाह मापने की इकाई है। एक क्यूसेक का मतलब इतना पानी जो कि प्रति सेकंड 1 ft ऊंचाई, 1 ft लंबाई तथा 1 ft चौड़ाई जगह को भर दे। माप की बात करें तो यह तक़रीबन 28 लीटर के बराबर होता है। अगर 8 लाख क्यूसेक की बात करें तो यह तक़रीबन सवा दो करोड़ लीटर पानी प्रति सेकंड है।

4 comments on “दाउदनगर: बाढ़ का खतरा फिर से- सावधान रहने की ज़रूरत
  1. आर्य अमर केशरी says:

    उए न्यूज़ ब्लॉग कौन चलता है मैं जानना चाहता हूँ

    • irshad says:

      Ji mera naam raja hai. Main hi iska sansthapak hun. Agar kisi bhi prakar ki aswidha hui ho to ham mafi chahte hain.

  2. Abdus Salam says:

    acchi jankari…..plz keep updating

Leave a Reply