दाउदनगर भखरुआ मोड़ पे ट्रैफिक जाम एक आम बात हो गई है। चाहे ओ सुबह का समय हो या भीड़ से भरी शाम, हालात नहीं बदलते। भखरुआ मोड़ से दाउदनगर बाजार की तरफ जाने वाली सड़क में महज़ 100 मीटर की दुरी तय करने के लिए 5 से 15 मिनट तक का समय लग रहा है।

सड़क के दोनों तरफ बड़े वाहनों (ट्रैक्टर तथा ट्रक) का पार्किंग कर इस प्रकार खड़े रहना ट्रैफिक को धीमा बनाने के लिए काफी हैं। साथ में सड़क के दोनों तरफ सब्जी बेचने वालों का सब्जी की टोकरी लेकर बैठना ट्रैफिक को और भी धीमा बनाता है।

दाउदनगर के बाकी इलाकों की तरह यहाँ पे पुरानी सड़कों के ऊपर ही ऊँचा ढलाई किया हुआ सड़क है जिसके कारण दोनों किनारे पे जगह रहते भी गाड़ी/बाइक चल नहीं सकती। जगह जगह पे गन्दगी और कीचड़। ट्रैफिक पुलिस की कमी जिसके कारण लोग ओवरटेक करने के चक्कर में विपरीत दिशा के लाइन में चले जाते हैं जिससे ट्रैफिक की समस्या और बढ़ जाती है।

मिला जुला कर देखा जाये तो भखरुआ मोड़ पे ट्रैफिक जाम से अगर मुक्ति पाना है तो प्रशाषन को कुछ कड़े फैसले लेने होंगे साथ ही हमें भी एक ज़िम्मेदार नागरिक होने का फ़र्ज़ निभाना पड़ेगा। यह समस्या भले ही छोटी समस्या दिखती हो पर निरंतर जिस प्रकार इस समस्या में इज़ाफ़ा हो रहा है ये सच में चिंता का विषय है

Leave a Reply